अध्यात्म क्या है ?

हरि सम जग कछु वस्तु नहीं

सद्गुरु सम सज्जन नहीं

हरि- सब पाप ताप हर ले

सब कुछ हरि

हरि अध्यात्म तत्व

आपके जीवन में 3 धाराएं

अंतःकरण की संपूर्ण से शरीर चलता है

सब बदलता है

हमारा आत्मदेव महाकाल के साथ जुड़ा हुआ है

आत्मा अकाल है

TAG- संत आसाराम बापू, ॐ , ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, हरि, सद्गुरु, अध्यात्म, जीवन, अंतःकरण, आत्मदेव, महाकाल, अकाल