आत्मसाक्षात्कार कठिन क्यों लगता है ? | आत्मसाक्षात्कार दिवस विशेष सत्संग

नासमझी के कारण ईश्वर प्राप्ति कठिन लग रही है

ईश्वर प्राप्ति बहुत सरल है और कठिन नहीं

वशिष्ठ जी ने दिया भगवान श्री राम को सत्संग

राग और द्वेष के कारण ईश्वर प्राप्ति कठिन

भगवान बहुत सुलभ है

राजा जनक और राजा परीक्षित को हुआ था आत्म साक्षात्कार

अपने में खो जाऊं तो तुरंत आत्म साक्षात्कार

आत्म सुख से बड़ा कोई सुख नहीं

आत्म साक्षात्कार करना शहंशाह का रास्ता

घाट वाले बाबा का प्रसंग

TAG- संत आसाराम बापू, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, वशिष्ठ जी, भगवान श्री राम, राग, द्वेष, राजा जनक, राजा परीक्षित, घाट वाले बाबा