आत्मा शिव को पाने का इरादा पक्का बना लो

निर्गुण निराकार तत्व को जानो

निर्गुण निराकार का कोई अंत नहीं है

सूक्ष्म शरीर मन के संकल्प से जाते हैं

मन में बहुत शक्ति है

हरि अनंत हैं और उनकी दिलाएं भी अनंत है

अपने आप में स्थित हो जाओ

शरीर संसार एक सपना है सिर्फ परमात्मा अपना है

जन्म मृत्यु मेरा धर्म नहीं है

मैं परमात्मा हूं

व्रत सत्संग जीवन में बहुत जरूरी

TAG- संत आसाराम बापू, भगवान, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, सनातन धर्म, आत्मा शिव, निर्गुण निराकार, सूक्ष्म शरीर, मन, शक्ति, हरि, अनंत, शरीर, संसार, जन्म, मृत्यु, व्रत

ॐ #MereBapuNirdoshHain #ISupportAsaramBapu #AsaramBapu #SelflessServicesByBapuji #Bapuji #AsaramBapujiIsFramed #SantShriAsharamjiBapu #Satsang