उत्तम संतानप्राप्ति के लिए

IMG-20140213-WA0022

उत्तम संतानप्राप्ति के लिए ( ५ जनवरी २०१४ से १८ सितम्बर २०१४ तक का समय गर्भधान के लिए अति उत्तम है |)

ग्रह-नक्षत्रों का असर मुनष्यों-प्राणियों पर ज्यादा होता है | ब्रहस्पति, बुध, शुक्र, चन्द्र – ये शुभ ग्रह हैं | उनमे भी ब्रहस्पति अत्यंत शुभ ग्रह है | ब्रहस्पति जब बलवान होता है, तब पुण्यात्माएँ पृथ्वी पर अवतरित होती हैं | बलवान ब्रहस्पति जिसकी जन्मकुंडली में होता है, उसमें आध्यात्मिकता, ईमानदारी, सच्चारित्र्य, विद्या और उत्तम विशेषताएँ होती हैं | इसलिए गर्भाधान ऐसे समय में होना चाहिए, जिससे बच्चे का जन्म बलवान उत्तम ग्रहों की स्थिति में हो |

५ जनवरी २०१४ से १८ सितम्बर २०१४ तक का समय गर्भधान के लिए अतिशय उत्तम है | उत्तम संतान की इच्छावाले दम्पति को अधिकाधिक गुरुमंत्र का जप या हॉट सके तो पुरुष को ४० – ४० दिन के तथा महिला को २१ – २१ दिन के दो – तीन अनुष्ठान करके उत्तम संतान हेतु परमात्मा से प्रार्थना करनी चाहिए, तत्पश्च्यात गर्भाधान करना चाहिए | गर्भाधान से पहले कम-से-कम १ – २ माह का ब्रम्हचर्य – व्रत अवश्य रखें | गाय का दूध, घी, खीर और सात्त्विक आहार लें | अंडा, मांस, मदिरा, तम्बाकू, वासी भोजन, फास्टफूड जैसे तामसी पदार्थों का सेवन न करें | गर्भाधान के बाद ज्यों – ज्यों गर्भ बढे, त्यों – त्यों स्त्री को वजन उठाना, हर प्रकार की वाहन – यात्रा, व्यायाम, नीचे झुककर काम करना (जैसे झाड़ू – पोंछा) आदि कार्यों से बचते रहना चाहिए | लाल मिर्च, हरी मिर्च, हिंग, मेथी, राई, गाजर, कपसिया तेल (Cotton seed oil), गर्म दवाईयों और गर्भ पदार्थों का सेवन न करें |
नौकरी करनेवाली महिलाओं को गर्भाधान के दिनों में और बाद के दिनों में शारीरिक-मानसिक आराम पर ख़ास ध्यान देना चाहिए | पुरुषों को भी शारीरिक आराम और मानसिक प्रसन्नता के बाद ही गर्भाधान के लिए प्रवृत्त हों योग्य है | रात्रि-जागरण बल, बुद्धि, स्वास्थ्य पर बहुत बुरा असर करता है | काम-धंधा है तब भी रात्रि की नींद का फायदा लिया करो | तुमने देखा होगा कि ट्रक ड्राइवर का श्रम तुम्हारे-हमारे से ज्यादा है लेकिन कोई बढ़िया मकान या बढ़िया गाड़ीवाला नहीं मिलेगा | तन-मन-बुद्धि का रात्रि की नींद में जितना विकास होता है, उतना दिन की नींद में नहीं होता |
 ऋषिप्रसाद – मार्च २०१४ से  

 

 

 

One thought on “उत्तम संतानप्राप्ति के लिए

Comments are closed.