कैसा हो आपका आहार ?

वल्लभाचार्य जी ने सिखाया आहार ग्रहण करने का तरीका

अन्न केवल हक का खाएं

जैसा खाओगे अन्न वैसा होगा मन

अन्न को बर्बाद ना करें

अन्न में शुद्ध होनी चाहिए

रामानुजाचार्य ने बताया अन्य ग्रहण करने के तरीके

अन्न के दोष निवारण करें

आदि शंकराचार्य जी का सत्संग

इंद्रियों के द्वारा अशुद्ध आहार ना ले

सब में ईश्वर मौजूद

TAG – संत आसाराम बापू, भगवान, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, वल्लभाचार्य जी, अन्न, मन, रामानुजाचार्य, आदि शंकराचार्य जी, इंद्रियों

ॐ #MereBapuNirdoshHain #ISupportAsaramBapu #AsaramBapu #SelflessServicesByBapuji #Bapuji #AsaramBapujiIsFramed