घर परिवार के झगड़े ऐसे मिटायें

किसी की निंदा ना करो

मां की निंदा नहीं सुननी चाहिए

माता का दिल जीतो

मां की सेवा करने से संतान तेजस्वी होती है

आप का अंतर करण पवित्र करो

सब से प्रेम करो

हे प्रभु आनंद दाता ज्ञान हमको दीजिए

निंदा करने से पुण्य का नाश होता है

हरि ओम का गुंजन 15 मिनट तक करें

सहनशील बनो

TAG – संत आसाराम बापू, भगवान, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, निंदा, मां, अंतर करण, प्रेम, आनंद, हरि ओम , सहनशील

ॐ #MereBapuNirdoshHain #ISupportAsaramBapu #AsaramBapu #SelflessServicesByBapuji #Bapuji #AsaramBapujiIsFramed