जगन्नाथ महाराज की कथा

जगन्नाथ महाराज एक साधु थे

महाराज को आया शारीरिक कष्ट

भगवान साधु की सेवा करने आते हैं

गुरु की आज्ञा ब्रह्म वचन

सूरदास बहुत महान बने

गुरु से बेवफाई की तो मुसीबत जीवन में आएगी और वफादारी करने पर आत्म साक्षात्कार होगा

संत की आज्ञा मानने से जीवन सफल हो जाता है

गुरु ही भगवान है

गुरु ही असली हितेषी

कर्म का सिद्धांत सबको पालन करना पड़ता है

TAG- संत आसाराम बापू, भगवान, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, सनातन धर्म, जगन्नाथ महाराज, साधु, शारीरिक कष्, ब्रह्म वचन, सूरदास, गुरु, जीवन, सिद्धांत

ॐ #MereBapuNirdoshHain #ISupportAsaramBapu #AsaramBapu #SelflessServicesByBapuji #Bapuji #AsaramBapujiIsFramed