ज्ञानवान पुरुष का उपकार

सत्संग का बहुत उपकार है

सभी विद्वान भी सत्संग कर्ता के आगे नतमस्तक होकर बैठते हैं

राजा जनक ने सुना महाराज अष्टावक्र का सत्संग

ब्रह्मज्ञानी ऋतंभरा प्रज्ञा के धनी होते हैं

श्री कृष्ण का सत्संग

जन्म मरण का चक्कर हमेशा के लिए खत्म करना है

भक्त और साधक की सुरक्षा करते हैं ईश्वर

परमात्मा तत्व को सुनो उसका ही कथन करो

अपने आप में स्थिति पाव

परमात्मा सच्चिदानंद है

TAG- संत आसाराम बापू, भगवान, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, सनातन धर्म, ज्ञानवान पुरुष, विद्वान, राजा जनक, महाराज अष्टावक्र, ऋतंभरा प्रज्ञा, श्री कृष्ण, जन्म मरण, भक्त, साधक, परमात्मा तत्व, सच्चिदानंद

ॐ #MereBapuNirdoshHain #ISupportAsaramBapu #AsaramBapu #SelflessServicesByBapuji #Bapuji #AsaramBapujiIsFramed #SantShriAsharamjiBapu #Satsang