दुःख आये तो क्या करें ?

खीर और पंचगव्य से भी ज्यादा लाभ सत्संग से

सत्संग से परम लाभ

सुख दुख आते जाते रहते हैं

दुख में दुखी होना आपके हाथ की बात है

सुख और दुख आते हैं मनुष्य के विकास के लिए

हरि ओम का गुंजन करो

भगवान आशाराम ने बताया दुख मिटाने के तरीके

दुख तब होता है जब मन की ना हो

अपनी चाही बनी रहे यह बेवकूफी है

मनुष्य के अंदर बहुत शक्तियां छुपी है

TAG- संत आसाराम बापू, ॐ , ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, खीर, पंचगव्य, सत्संग, सुख, दुख, मनुष्य, हरि ओम, मन, शक्तियां