पुत्रदा एकादशी

माहिषमती महीजाट राजा की कथा

पुत्रदा एकदशी का व्रत पुत्र प्रदान कर्ता है

महीजाट राजा का सकुशल राज

अशांति निवरती का उपाय

लोमश ऋषि का तेजस्वी जीवन

गाय को सताना, एक महा पाप

एकदशी का व्रत करने से मन पवित्र

युक्ति से मुक्ति

युधिष्ठिर महाराज ने सुनी माहिषमती महीजाट राजा की कथा

पुत्रदा एकादशी से परम लाभ

Tag- संत आसाराम बापू, ब्रम्ह ज्ञानी, माहिषमती महीजाट राजा, पुत्रदा एकादशी, अशांति,  लोमश ऋषि, गाय, युक्ति से मुक्ति, युधिष्ठिर महाराज