पूज्य बापूजी अपने भक्तों से क्या गुरुदक्षिणा माँगते हैं ?

आत्म साक्षात्कार होने के बाद कहीं भटकना नहीं पड़ता

सीधे ईश्वर से संबंध बनाओ

जगत की चीज आपको कभी सुख नहीं देगी

सत्य ही ईश्वर है

अनंत की शरण जाओ

इसी जन्म में प्रभु को पाना है

विकारों से मोह हटाओ

जहां राम तहा नहीं काम

मनुष्य में यथा सामर्थ्य है

ब्रह्मचारी व्रत जीवन में बहुत जरूरी है

TAG- संत आसाराम बापू, भगवान, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, सनातन धर्म, भटकना, चीज, सत्य, अनंत, जन्म, विकारों, राम, काम, मनुष्य, सामर्थ्य, ब्रह्मचारी व्रत

ॐ #MereBapuNirdoshHain #ISupportAsaramBapu #AsaramBapu #SelflessServicesByBapuji #Bapuji #AsaramBapujiIsFramed