बुद्धि क्या है और मन की आगे की यात्रा कैसे करें?

इंद्रियों को मन में लेकर आओ

मन को बुद्धि में लेकर आओ

सब एक है

चिंतन से परमात्मा मिलता है

बुद्धि और जीवात्मा एक है

मन को ईश्वर में लगा

वासुदेव सर्वम इति

मैं भगवान का भगवान मेरे

जीव ब्रह्म परमात्मा है

सब भ्रम है

TAG- संत आसाराम बापू, भगवान, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, सनातन धर्म, बुद्धि, मन, इंद्रियों, चिंतन, जीवात्मा, वासुदेव, जीव

ॐ #MereBapuNirdoshHain #ISupportAsaramBapu #AsaramBapu #SelflessServicesByBapuji #Bapuji #AsaramBapujiIsFramed