भगवद ध्यान बहुत आवश्यक है

भगवान सत्ता में शांत होना बहुत ऊंची बात है

जीवन में ध्यान बहुत जरूरी

ध्यान सफल हुआ तो भौतिक पदार्थ बहुत आसानी से मिल जाते हैं

भगवत सत्ता में शांत रहने से सामर्थ्य आता है

इंद्रियों की चंचलता घटती है भगवा सत्ता में शांत रहने से

इच्छाएं और वासना जीवन को पतन की तरफ ले जाती है

सत्संग सुने और ओमकार का जाप करें

इंद्रियों को नियंत्रित रखें

ब्रह्मज्ञानी संत का सत्संग सुनने से ब्रह्मा अकार वृति उत्पन्न होती है

अज्ञान दुख देता है

TAG- संत आसाराम बापू, भगवान, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, सनातन धर्म, भगवद ध्यान, भगवान सत्ता, जीवन, भौतिक पदार्थ, भगवत सत्ता, इंद्रियों, चंचलता, इच्छाएं, वासना, ब्रह्मा अकार वृति, अज्ञान

ॐ #MereBapuNirdoshHain #ISupportAsaramBapu #AsaramBapu #SelflessServicesByBapuji #Bapuji #AsaramBapujiIsFramed #SantShriAsharamjiBapu #Satsang