भगवान आसाराम बापू कौन सी घुट्टी पिलाते हैं , अपने भक्तों को ?

अहंकार विनाश का कारण

प्रेम बहुत उदार

प्रेम और सद्भाव लो और दो

भगवान श्री कृष्ण ने उद्धव को दिया ज्ञान

प्रेमी के जीवन में नित्य नवीन रस

वासुदेव सर्वं इति

कौन अपना, कौन पराया

आत्मा से कभी नहीं बिछड़ सकते

संसार और शरीर को सदा रख नहीं सकते

मनुष्य की मांग है आत्मा परमात्मा का सुख

TAG- संत आसाराम बापू, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, अहंकार, विनाश, प्रेम, सद्भाव, भगवान श्री कृष्ण, उद्धव, रस, वासुदेव, आत्मा, संसार, शरीर, मनुष्य