मंत्र जाप से भाग्योदय और स्वास्थ्य लाभ

गुरु अर्जुन देव का सत्संग

भगवान के नाम का जप नहीं तो शरीर मुर्दा

संत रविदास का सत्संग

दादू दीन दयाल महाराज का सत्संग

सद्गुरु के प्रसाद से राम रस

1 करोड़ मंत्र जप से रजस् और तमस का नास

सपने में गुरु या संत के दर्शन यानी एक करोड़ जप

2 करोड़ जप से धन और कुटुम स्थान शुद्ध

2 करोड़ जप से पराक्रम स्थान शुद्ध और असाध्य कार्य संभव

चार करोड़ जप से मित्र स्थान शुद्ध

TAG- संत आसाराम बापू, ॐ , ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, गुरु अर्जुन देव, भगवान, शरीर, संत रविदास, दादू दीन दयाल महाराज, सद्गुरु, मंत्र जप, रजस्, तमस, कुटुम, पराक्रम, मित्र