शमशान यात्रा | जब तुम्हारी मृत्यु होगी तब कुछ ऐसा होगा !

मृत्यु तो शरीर की होकर रहेगी

आपकी मृत्यु कभी नहीं हो सकती, आप आत्मा हो

शरीर के मरने के बाद भी आप रहते हो आप अजर अमर आत्मा हो

ईश्वर प्राप्ति बहुत सरल

मृत्यु के 1 झटके में सब पराए

शरीर नश्वर, आत्मा अमर

हे अज्ञानी मनुष्य मृत्यु के एक झटके में सब कुछ छूट जाएगा

शरीर शमशान की डिपाजिट है

मौत भी प्रभु की कृपा

मंगलमय जीवन मृत्यु पुस्तक मृत्यु के अवसर पर पढ़ें और पढ़ाएं

TAG- संत आसाराम बापू, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, मृत्यु, शरीर, आत्मा, अज्ञानी, शमशान, प्रभु, मंगलमय जीवन मृत्यु पुस्तक