Category Archives: Dhyan

Kya ‘Om’ Ka Jaap Karne Se Teeno Guno Se Paar Ho Saktein Hai ?

om ka jap

क्या ॐ का जप करने से तीनों गुणों से पार हो सकते हैं?

एक संत ने बताए थे कि ॐ का जाप करने से त्रिमात्मक ताप से पार नहीं हो सकता| वह तीन गुणों के अंदर आता है| हें?

ॐ का जाप करने से त्रिमात्मक ताप से पार नहीं हो सकता है| वह तीन गुणों के अंदर ही आता है| जबकि भगवान कहते हैं कि तुम तीन गुणों से पार हो जाओ| भगवान?

भगवान कृष्ण कहते है कि तीन गुणों से पार हो जा| तो क्या ॐ का जाप करने से तीन गुणों से पार हुआ जा सकता है ? देखो उस संत ने कहा वो भी सच्चा है| और हम भी कहते है वो सच्ची बात है| जी त्रय गुणा विषया वेदा – ये कृष्ण ने कहा निस्त्र्या गुणा भवा अर्जुना | ये वेद और उच्चारण वाणी ये भी तीन गुणों में ही है| लेकिन तमोगुण को जितने के लिए रजोगुण, रजोगुण को जितने के लिए सतोगुण और सतोगुण में आ गये तो गिल्ली को एक डंडा मारा ऊपर उठी दूसरा मारा तो उड़ी| फिर वहाँ जा के शांत बैठी| ॐ कर का जप करते-करते जप जहाँ से होता है उसमे शांत हो जाओ तो त्रिगुणातीत हो गये|

फिर शांति-अशांति जो तत्व जनता है वो मैं हूँ तो त्रिगुणातीत हो गये| समझ गया बच्चा!