ईश्वर ने जनम से पहिले झुला भेजा – (बापूजी की लीला- १९)

MaMehengiBaईश्वर ने जनम से पहिले झुला भेजा

मेरी माँ ने मेरे को बताया की तुम्हारा जन्म होनेवाला था उसके एक संध्या पहिले, सुबह तुम्हारा जन्म होना है तो शाम को एक सौदागर ने बड़ा झुला लाया | जो तुम देख रहे हो | वो झुला क्या था बापरे आज के पलंग भी बहोत छोटे है | झुला इतना बड़ा था की बच्चा भी सोये, माँ भी सोये और उसके दो-चार भाई हो या पिता हो वो सब परिवार झूले, इतना बड़ा झुला था | अभी भी मेरे आँखों के आगे है | सत्संग सुनो तो हसते खेलते, संसार में रहो तो हसते खेलते | काय को टेंशन में रहेना |
Listen Audio:
Download Audio