बुद्ध पुर्णिमा विशेष | ताने और बदनामी सह के भी अनंत का ही सन्देश दिया है महापुरुषों ने

भगवान बुद्ध की कथा

वेश्या ने लगाए भगवान बुद्ध पर आरोप

लोग और समाज हुआ भगवान बुद्ध से वंचित

भगवान बुद्ध पर लगा वैश्या की हत्या का आरोप

भगवान बुद्ध के साथ हुआ जुल्म

संत समाज को अनंत की परिधि में ले जाते हैं

संत विरोधी दुष्ट और नीच होते हैं

गुरु नानक का हुआ था विरोध

गुरु तेग बहादुर ने अपने धर्म के लिए कटाया अपना सर

गुरु गोविंद सिंह जी ने धर्म के लिए दी अपने परिवार की कुर्बानी

TAG- संत आसाराम बापू, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, भगवान बुद्ध, समाज, अनंत, गुरु नानक, गुरु तेग बहादुर, गुरु गोविंद सिंह, धर्म, कुर्बानी

गुरु की पूजा हम क्यों करते हैं ?

व्यास पूर्णिमा का महत्व

श्रीमद् भागवत – एक महापुराण

व्यास जी के सिद्धांत से प्राणी मात्र का कल्याण

आत्मा ही ज्ञान स्वरूप

मैं व्यापक हूं

गुरु की पूजा ज्ञान की पूजा

गुरु चैतन्य है

गुरु का वैभव लोक लोकांतर में फैला

अंतरात्मा से बना के रखो

आत्म साक्षात्कार- जीवन का परम उद्देश्य

TAG- संत आसाराम बापू, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, व्यास पूर्णिमा, श्रीमद् भागवत, व्यास जी, आत्मा, व्यापक, गुरु, अंतरात्मा

घर बैठे सोना बनाने की गुप्त विद्या | श्री देवराहा बाबा दिव्य जीवन चरित्र

श्री देवराहा बाबा का दिव्य जीवन

देवराहा बाबा के शिष्य की कथा

भगवान आसाराम बापू और देवराहा बाबा का संत मिलन

या तो साधु संग या फिर संसार

मन में लोभ

सोना बनाने की विधि

अंग्रेजों का शासन

संत को सच्चे मन और हृदय से पुकारो तो दर्शन देते हैं

भगवान गोरखनाथ और भगवान हनुमान जी की कथाएं

योग विद्या के चमत्कार

TAG- संत आसाराम बापू, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, श्री देवराहा बाबा, शिष्य, साधु, मन, सोना, अंग्रेजों, भगवान गोरखनाथ, भगवान हनुमान जी, मन, हृदय, योग विद्या

अजा एकादशी व्रत कथा

राजा हरिश्चंद्र की कथा

गौतम ऋषि ने दी अजा एकादशी की सलाह

राजा हरिश्चंद्र ने भी किया अजा एकादशी का व्रत

अजा एकादशी महत्वपूर्ण एकादशी

राजा युधिष्ठिर ने पूछा श्रीकृष्ण से अजा एकादशी का महत्व

राजा हरिश्चंद्र एक यशस्वी राजा

राजा हरिश्चंद्र के जीवन में आया दुख

राजा हरिश्चंद्र ने ली संत शरण

आज का एकादशी का व्रत महा सुख देने वाला व्रत

संत की शरण में जीवन का भाग्योदय

TAG- संत आसाराम बापू, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, राजा हरिश्चंद्र, गौतम ऋषि, अजा एकादशी, राजा युधिष्ठिर, श्रीकृष्ण, संत, सुख, भाग्योदय

जो कुछ भी सीखे हैं गुरु के होकर सीखे हैं !

योग या योगआसन में फरक

मन को शांत करना है

कृष्णा का समत्व-योग

समता का गुण

आध्यात्मिक उन्नति जीवन में जरुरी

आसक्ति का त्याग

संसार की सफलता भी असफलता

ब्रह्मज्ञानी के चरणों में जाओ

ज्ञान हमेशा सत्य

आत्मा का जन्म नहीं ना ही मृत्यु

TAG- संत आसाराम बापू, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, योग, योगआसन, मन, कृष्णा, समता, आध्यात्मिक, आसक्ति, संसार, ज्ञान, आत्मा

दिव्य सृष्टि का प्रसाद | बंशी नाद ध्यान

परमेश्वरी आनंद-सबसे बड़ा आनंद

कृष्ण की करुणा कृपा

कृष्णा की लीला

नज़रों से वो निहाल हो गए जो कृष्ण की नज़र मे अl जlते है

जहां भक्त, वहां भगवान

कन्हैया का माधुर्या सर्व व्यापाक

निर्दुख होकर जीये

प्रभु रस पी सारी जिंदगी सुधर जाएगी

अमर पद पाओ

राम राघव रक्षामः, कृष्ण केशव प्राहिमान

TAG-  संत आसाराम बापू, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, परमेश्वरी आनंद, कृष्ण, भक्त, भगवान, निर्दुख, अमर, राम

भगवान और संत यह सहन नहीं है ..! श्रीकृष्ण जन्माष्टमी विशेष

भगवान का अवतार केवल हिंदू संस्कृत में

हिंदू संस्कृति – परमेश्वर शांति

जन्माष्टमी का उत्सव

कृष्ण जन्म-धर्म की स्थापना

कृष्णा अवतार – पूर्ण अवतार

ब्रह्मा और शिव स्तुति

ब्रह्मा जी ने ली कृष्ण की परिक्षा

राजा परीक्षित का प्रश्न

भगवान और संत जीवात्मा का अहंकार अंत करते हैं

सर्ववत विष्णु

सब जनमजात सनातन

TAG- संत आसाराम बापू, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, भगवान, हिंदू , जन्माष्टमी, कृष्ण जन्म, ब्रह्मा, शिव, राजा परीक्षित, सनातन, अहंकार

मृत्यु के भय से कैसे बचें ?

मृत्यु के भय से कैसे बचें ?

यज्ञवल्क्य ने राजा जनक को ब्रह्मविद्य सिखाई

वाणी ब्रह्मा है

वाणी और उसके प्रकार

वाणी का उदगम स्तल चैतन्य परमेश्वर

गुरु सब ज्ञान के दाता

जनक राजा को हुआ आत्म साक्षात्कार

अंत में सब कुछ छूट जायेगा

मौत से मुक्ति केसे

शरीर मारता है, में आत्मा अमर हूं

अप सतत सिद्ध हो

TAG- संत आसाराम बापू, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, यज्ञवल्क्य, राजा जनक, वाणी, ब्रह्मा, चैतन्य परमेश्वर, गुरु, ज्ञान, मौत, मुक्ति, शरीर, आत्मा

 

रसमय ध्यान

रस्मे साधना- एक उत्तम साधना

मंसूर की मस्ती को लोग बिचारे क्या जाने

निगुरा ईश्वर के रस से अंजान

भितर से इश्वर का रस

भगवान भाव के भूखे

मोह माया रूपी संसार से मुक्ति के द्वार तक पहुंचे

प्रभु की प्रीती करो

प्रभु की सारी लीला

प्रभु के अलावा कुछ नही

संसार सपना, परेश्वर अपना

TAG- संत आसाराम बापू, ब्रम्ह ज्ञानी, रस्मे साधना, मंसूर, निगुरा, ईश्वर, भाव, मोह माया, संसार, मुक्ति

इस प्रकार जप करें और देखें चमत्कार

40 दिन के अनुष्ठान के फायदे

ज्ञान का प्रकाश

अंतःकरण से स्नेह

सत्संग का रस

सत्संग भगवान के दर्शन से भी बड़ा

सबको अपना मानना

परमात्मा की शक्ति

तानसेन का तेजस्वी जीवन

ओमकर के जाप की महिमा

लिलाशा साई की सक्ति

Tag- संत आसाराम बापू, ब्रम्ह ज्ञानी, अनुष्ठान, ज्ञान, अंतःकरण, सत्संग, भगवान, परमात्मा, तानसेन, ओमकर, लिलाशा साई