आश्रय और प्रीति

संसार की प्रीति से पतन होता है

ईश्वर का आश्रय लो

ईश्वर प्राप्ति बहुत सरल है

बाहर का रस से अच्छा है अंदर का रस

आनंद स्वरूप ब्रह्म में स्थित हो

जो समय को बर्बाद करता है समय उसको बर्बाद करता है

ब्रह्म ज्ञान के लिए सद्गुरु बहुत जरूरी

गुरु की सेवा से परम लाभ

संसार एक दिन छूट जाएगा

राग द्वेष से ही कर्म बंधन बनते हैं

TAG- संत आसाराम बापू, भगवान, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, सनातन धर्म, आश्रय, प्रीति, संसार, आनंद स्वरूप ब्रह्म, समय, सेवा, राग द्वेष, कर्म बंधन

ॐ #MereBapuNirdoshHain #ISupportAsaramBapu #AsaramBapu #SelflessServicesByBapuji #Bapuji #AsaramBapujiIsFramed #SantShriAsharamjiBapu #Satsang

विवेक संयुक्त विचार करो

संत तुलसीदास की प्रार्थना

हे प्रभु आपका ज्ञान और भक्ति हमेशा मिलती रहे

संसार से वैराग्य करो

प्रभु के चरणों में प्रीति बनाओ

एकादशी को चावल ना खाओ

लक्ष्मण जी ने दिया सुग्रीव को ज्ञान

सद्गुरु ही हमारे परम हितेषी है

गुरु में दोष ना देखें

भगवान राम ने ली मां सीता की अग्नि परीक्षा

आत्म साक्षात्कार के लिए सद्गुरु बहुत जरूरी

TAG- संत आसाराम बापू, भगवान, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, सनातन धर्म, विवेक, विचार, संत तुलसीदास, ज्ञान, भक्ति, संसार, वैराग्य, प्रीति, एकादशी, चावल, लक्ष्मण जी, सुग्रीव, भगवान राम, मां सीता

ॐ #MereBapuNirdoshHain #ISupportAsaramBapu #AsaramBapu #SelflessServicesByBapuji #Bapuji #AsaramBapujiIsFramed #SantShriAsharamjiBapu #Satsang

श्रद्धा भक्ति कैस बड़े?

सत्संग श्रद्धा और भक्ति बढ़ती है

सच्चे संत का संग करो

ईश्वर की ओर पुस्तक पढ़ो

लीलाशाह बापू एक महान संत थे

गुरु की निंदा करने वालों का साथ छोड़ दो

गुरु पर से श्रद्धा हटी तो विनाश पक्का

ब्रह्मज्ञानी गुरु देने में कोई कसर नहीं छोड़ते

श्रद्धा से ही सब कुछ होता है

आत्म साक्षात्कार के लिए श्रद्धा बहुत जरूरी है

ब्रह्मज्ञानी से सबको फायदा होता है

TAG- संत आसाराम बापू, भगवान, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, सनातन धर्म, श्रद्धा, भक्ति, सत्संग, श्रद्धा, भक्ति, सच्चे संत, ईश्वर की ओर, लीलाशाह बापू, निंदा, विनाश, ब्रह्मज्ञानी गुरु, श्रद्धा

ॐ #MereBapuNirdoshHain #ISupportAsaramBapu #AsaramBapu #SelflessServicesByBapuji #Bapuji #AsaramBapujiIsFramed #SantShriAsharamjiBapu #Satsang

 

 

दुर्बल मन को विषयों से बचाने की युक्ति

बद्रीनाथ के दर्शन करने से पुण्य मिलता है

मूर्ति के दर्शन से अच्छा है संत दर्शन करना उसे परम लाभ मिलेगा

संत दर्शन से विशेष लाभ

संसार का कोई साथ नहीं है

विषयों का सुख क्षणभंगुर है

हरि कीर्तन करना जीवन में बहुत जरूरी

मनुष्य का मन रस चाहता है

3 घंटे रोज जप करें

3 घंटे रोज योग वशिष्ठ रामायण पढ़े

आज्ञा पालन करने जैसा कोई सेवा नहीं है

TAG- संत आसाराम बापू, भगवान, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, सनातन धर्म, दुर्बल मन, विषयों, बद्रीनाथ, मूर्ति, संसार, सुख, हरि कीर्तन, मन, जप, योग वशिष्ठ रामायण, आज्ञा पालन

ॐ #MereBapuNirdoshHain #ISupportAsaramBapu #AsaramBapu #SelflessServicesByBapuji #Bapuji #AsaramBapujiIsFramed #SantShriAsharamjiBapu #Satsang

ईश्वर की गोद में बैठ जाओ

संसार नाशवान है

संत तुलसीदास और रत्नावली की कथा

संत की सेवा करने से बहुत सारे रास्ते खुल जाते हैं

संत की सेवा बहुत ही सौभाग्य से मिलती है

भगवान में प्रीति बढ़ाओ

स्वामी रामतीर्थ का तेजस्वी जीवन

देह और जगत से मोह हटाओ

सुविधा से समय और जीवन शक्ति का नाश होता है

सुख बहुजन हित में लगाओ

जब दुख आए तो विवेक और वैराग्य जगाओ

TAG- संत आसाराम बापू, भगवान, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, सनातन धर्म, संसार, नाशवान, संत तुलसीदास, रत्नावली, सेवा, सौभाग्य, प्रीति, स्वामी रामतीर्थ, देह, जगत, सुविधा, दुख, सुख

ॐ #MereBapuNirdoshHain #ISupportAsaramBapu #AsaramBapu #SelflessServicesByBapuji #Bapuji #AsaramBapujiIsFramed #SantShriAsharamjiBapu #Satsang

शिवरात्रि के दिन क्या करें?

आत्मा शिव में शांत हो

बाहर के तीर्थ कि मनुष्य को कोई जरूरत नहीं अपने आप को जानो

शिव जी का सत्संग

ध्यान जैसा कोई यज्ञ, तप, व्रत, दान, तीर्थ नहीं है

ध्यान में जीव आत्मा से परमात्मा एक हो जाता है

ध्यान में काम, क्रोध, लोभ, मोह, अहंकार सब नष्ट हो जाते हैं

ध्यान किए हुए योगी का चित जन्म मरण के काबिल नहीं होता

शिवरात्रि के दिन आपको तिल का उपयोग करना चाहिए इससे पुण्य मिलता है

शिवरात्रि के दिन तिल का बहुत महत्व है

सतगुरु मिले अनंत फल

TAG- संत आसाराम बापू, भगवान, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, सनातन धर्म, महाशिवरात्रि, आत्मा शिव, शांत, तीर्थ, शिव जी, ध्यान, यज्ञ, तप, व्रत, दान, तीर्थ, जीव आत्मा, काम, क्रोध, लोभ, मोह, अहंकार, नष्ट, योगी, जन्म, मरण, चित, तिल, पुण्य

ॐ #MereBapuNirdoshHain #ISupportAsaramBapu #AsaramBapu #SelflessServicesByBapuji #Bapuji #AsaramBapujiIsFramed #SantShriAsharamjiBapu #Satsang

 

महाशिवरात्रि की महिमा

शिवरात्रि का लाभ जरूर ले

शिवरात्रि का व्रत जरूर करें

शिवरात्रि के दिन शिव पूजा करें

वेद का ज्ञान जीवन का मार्गदर्शन है

वेद प्रिय ब्राह्मण की कथा

मां बाप के मन के विचार का बच्चों पर प्रभाव पड़ता है

भगवान राम की कथा

भूमि का बहुत प्रभाव पड़ता है मन पर

राग द्वेष से जीवन का पतन होता है

उज्जैन महाकाल की नगरी है और पवित्र नगरी है

TAG- संत आसाराम बापू, भगवान, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, सनातन धर्म, महाशिवरात्रि, व्रत, पूजा, वेद, वेद प्रिय ब्राह्मण, मां बाप, मन, भगवान राम, भूमि, राग द्वेष, उज्जैन

ॐ #MereBapuNirdoshHain #ISupportAsaramBapu #AsaramBapu #SelflessServicesByBapuji #Bapuji #AsaramBapujiIsFramed #SantShriAsharamjiBapu #Satsang

संसार से अलग और ईश्वर से एकता

संसार से अलग हुए बिना संसार का ज्ञान नहीं हो सकता

भगवान में विश्वास पाए बिना भगवान का ज्ञान नहीं हो सकता

भगवान से एकाकार होने का निश्चय बनाओ

संसार का व्यवहार द्वैत में ही संभव है

जीवात्मा अनेक है, परमात्मा एक है

संसार नाशवान है सब कुछ बदल रहा है

मैं कभी नहीं मरता सिर्फ शरीर मरता है

अति  कामी व्यक्ति का पतन होता है

माया के कारण जीवात्मा 84 लाख जन्मों में भटकता है

निर्भय नारायण के सुख में एकाकार होने का अनुभव करो यही हिंदू धर्म के शास्त्र और वेद कहते हैं

TAG- संत आसाराम बापू, भगवान, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, सनातन धर्म, संसार, ज्ञान, एकाकार, द्वैत, जीवात्मा, संसार, शरीर, कामी व्यक्ति, पतन, माया, 84 लाख जन्मों, निर्भय नारायण, शास्त्र, वेद

ॐ #MereBapuNirdoshHain #ISupportAsaramBapu #AsaramBapu #SelflessServicesByBapuji #Bapuji #AsaramBapujiIsFramed #SantShriAsharamjiBapu #Satsang

तस्य तुलना केन जायते

वशिष्ट जी का हुआ था बहुत कुप्रचार

अज्ञानी मूर्ख करते हैं महापुरुषों का कुप्रचार

भगवान राम जी और माता सीता ने वशिष्ट जी के चरण धोए थे

संत रहित समाज बहुत दुखी होता है

वशिष्ठ महाराज का क्रोध

राग और द्वेष में फंसे हुए महापुरुषों को समझ नहीं पाते

संत का आदेश मानने से अपना और समाज का भला होता है

ब्रह्म ज्ञानी महापुरुष की तुलना किससे नहीं कर सकते

ब्रह्म ज्ञानी महापुरुषों का अहंकार ब्राह्मी स्थिति का होता है दिखता है पर वास्तव में होता नहीं है

तुकाराम महाराज का सत्संग

TAG- संत आसाराम बापू, भगवान, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, सनातन धर्म, वशिष्ट जी, कुप्रचार, अज्ञानी मूर्ख, भगवान राम जी, माता सीता, समाज, क्रोध, राग और द्वेष, अहंकार, तुकाराम महाराज

ॐ #MereBapuNirdoshHain #ISupportAsaramBapu #AsaramBapu #SelflessServicesByBapuji #Bapuji #AsaramBapujiIsFramed #SantShriAsharamjiBapu #Satsang

ज्ञानवान पुरुष का उपकार

सत्संग का बहुत उपकार है

सभी विद्वान भी सत्संग कर्ता के आगे नतमस्तक होकर बैठते हैं

राजा जनक ने सुना महाराज अष्टावक्र का सत्संग

ब्रह्मज्ञानी ऋतंभरा प्रज्ञा के धनी होते हैं

श्री कृष्ण का सत्संग

जन्म मरण का चक्कर हमेशा के लिए खत्म करना है

भक्त और साधक की सुरक्षा करते हैं ईश्वर

परमात्मा तत्व को सुनो उसका ही कथन करो

अपने आप में स्थिति पाव

परमात्मा सच्चिदानंद है

TAG- संत आसाराम बापू, भगवान, ॐ , सत्संग, ब्रम्ह ज्ञानी, आत्म साक्षात्कार, सनातन धर्म, ज्ञानवान पुरुष, विद्वान, राजा जनक, महाराज अष्टावक्र, ऋतंभरा प्रज्ञा, श्री कृष्ण, जन्म मरण, भक्त, साधक, परमात्मा तत्व, सच्चिदानंद

ॐ #MereBapuNirdoshHain #ISupportAsaramBapu #AsaramBapu #SelflessServicesByBapuji #Bapuji #AsaramBapujiIsFramed #SantShriAsharamjiBapu #Satsang