सामूहिक प्रार्थना अहमदाबाद आश्रम में

ssaa

यदि कोई तुम्हारे समीप अन्य किसी साथी की निन्दा करना चाहे,तो तुम उस ओर बिल्कुल ध्यान न दो। इन बातों को सुनना भी महान् पाप है,उससे भविष्य में विवाद का सूत्रपात होगा।

* वही सबसे तेज चलता है, जो अकेला चलता है।
* प्रत्येक अच्छा कार्य पहले असम्भव नजर आता है।
* ऊद्यम ही सफलता की कुंजी है।
* एकाग्रता से ही विजय मिलती है।
* कीर्ति वीरोचित कार्यो की सुगन्ध है।
* भाग्य साहसी का साथ देता है।
* सफलता अत्यधिक परिश्रम चाहती है।
* विवेक बहादुरी का उत्तम अंश है।
* कार्य उद्यम से सिद्ध होते है, मनोरथो से नही।
* संकल्प ही मनुष्य का बल है।
* प्रचंड वायु मे भी पहाड विचलित नही होते।
* कर्म करने मे ही अधिकार है, फल मे नही।
* मेहनत, हिम्मत और लगन से कल्पना साकार होती है।
* अपने शक्तियो पर भरोसा करने वाला कभीअसफल नही होता।

About Asaram Bapuji

Asumal Sirumalani Harpalani, known as Asaram Bapu, Asharam Bapu, Bapuji, and Jogi by his followers, is a religious leader in India. Starting to come in the limelight in the early 1970s, he gradually established over 400 ashrams in India and abroad.