Sandhikaal Ki Sandhi Badhao (संधि काल की संधि बढाओ )

sandhikaal
सत्संग के मुख्य अंश :

  • शरीर से कर्म होता है, जीवन मुक्त महापुरुष से क्रिया होती है और भगवान् से लीला होती है ….
  • संधिकाल का संधि बाधाओं…. श्वास गया और आया उसके बीच को बाधाओं, विचार आया और गया उसके बीच को बढाओ ….. वही परमात्मा देव है |
  • या दूसरा तरीका है ….ॐकार विनियोग कर के अन्तर्यामी परमात्मा की प्राप्ति के ॐकार का जप करते जाओ…. ओठों से… स्वाभाविक रूप से जपते – जपते  भगवान् में शांत होते जाओ…. ॐ ॐ ॐ ॐ ॐ हरि ॐ ॐ ॐ ॐ हरि ॐ ॐ ॐ ॐ
  • बाहर की स्थिति बदल के भजन नहीं होता … हर अवस्था में इस भजन के प्रसाद में आ जाओ …. बाकि सब ठीक हो जायेगा….