सेवा का मौक़ा

10689769_943825058968273_2784838946219157781_n

मेरे गुरुदेव अस्सी वर्ष की आयु में भी किताबो की गठरी बांधकर नैनीताल की पहाड़ियों में जाते,सत्संग सुनाते,प्रसाद बाँटते और लोगो को एक एक किताब देते , उन्ही महापुरुष के निष्काम कर्मयोग का फल आज हम लोगो को मिल रहा है। मेरे साधक भी घर घर जाकर ऋषि-प्रसाद का दैवी कार्य करते हुए अपने देवत्व को जगाते है। आप लोगो को भी ऐसी सेवा का मौक़ा मिले तो चूकना नहीं।
-संत आशारामजी बापू

About Asaram Bapuji

Asumal Sirumalani Harpalani, known as Asaram Bapu, Asharam Bapu, Bapuji, and Jogi by his followers, is a religious leader in India. Starting to come in the limelight in the early 1970s, he gradually established over 400 ashrams in India and abroad.