सुखद, दुःखद अवस्था आये तो भी वो प्रकृति में है

rajokariEkant