तीसरा राऊन्ड चल रहा है – सावधान !

ASARAM JI BAPU, ASARAMJIBAPU, ASHARAM BAPU, ASHRAM, ATTACH, BHOPAL ASHRAM, FERI, FIRE, HERO, KUPRACHAR, PRACHAR, RALLY, SADHAK, SAKSHATKAR DIVAS, SANKIRTAN YATRA, SUPRACHAR, TISRA ROUND, YATRA

Asaram Bapuji

काफी साधको को तो पता ही है की बापूजी ने सालों पहले बता दिया था की आने वाले समय मे एक भयानक कूप्रचार की आँधी चलेगी | राउंड राउंड और फिर राउंड | ऐसा आयेगा समय की सबको हिला कर रख देगा | यही वो तीसरा राउंड है | ऐसे मे हम साधको की श्रद्धा की परीक्षा हो रही है | इस घड़ी मे हम सबको अपना मनोबल ऊँचा रखना है और एक दूसरे के मनोबल को बढ़ाना है | बापू ने यह भी बोला था कि ऐसे समय मे जिस की श्रद्धा टिकी रही उसका बेड़ा पार लग जायेगा |   इस आंधी के बाद ऐसा समय आने वाला है कि बापू घर घर पूजे जायेंगे |

आज तक कभी किसी अवतार के उतने मठ, मंदिर, आश्रम नहीं बने है जितने बापूजी के बनेंगे |

बापू ने खुद बोला है की यह भी नहीं रहेगा, वह भी नहीं रहेगा |

जगत सब सपना, परमात्मा है  अपना |

हरि ॐ तत्सत और सब गपसप |

यह इश्वर की ही लीला है, बापू साक्षात परं ब्रह्म हैं, ब्रह्म की लीला साधारण बुद्धि से नही समझी जा सकती |  इसलिये हम सब साधको को धैर्य का परिचय देना है, जितना हो सके अपना गुरु मंत्र का जप चालू रहे | इस समय अपनी छोटी से छोटी सेवा कर के ब्रह्म की लीला मे अपना योगदान दे सकते हैं | यही समय है जब पकके-पकके शिष्य रह जायेंगे और कच्चे निकल जायेंगे | यह परीक्षा का समय है और हम सब तो पक्के साधक ही हैं न ?  हमारि निष्ठा बापू मे अटूट है | आप सब से यह प्रार्थना है की हो सके तो इस संदेश को ज्यादा से ज्यादा साधकों तक पहुचायें और अपने गुरु भाई बहनों से नेटवर्क बनायें रखें | और एक दूसरे का मनोबल बढ़ायें | हम सब अपने विचारो का आदान-प्रदान करे | कोई भी संदेह हो तो आश्रम में संपर्क करें या यहाँ कमेंट करके हमसे संपर्क करें |

“ ॐ जं ध्वं कुप्रचारक स्वाहा “

“ ॐ ह्रीं ॐ “

“ हरि ॐ “

“ ॐ “

Asaram Bapu, Ashram Bapu, ashram, sant bharat ram

Tisra Round Asaramji Bapu

संत श्री आशारामजी बापू के भक्तों की हर गाँव, हर शहर, हर गली में हो रही है सुप्रचार फेरी, संकीर्तन यात्रा, वाहन यात्रा, राष्ट्र जागृति यात्रा |

 

About Asaram Bapuji

Asumal Sirumalani Harpalani, known as Asaram Bapu, Asharam Bapu, Bapuji, and Jogi by his followers, is a religious leader in India. Starting to come in the limelight in the early 1970s, he gradually established over 400 ashrams in India and abroad.