यम और नियमों के पालन से भी बढकर है गुरुसेवा

yamaurniyamyahaur1